- Advertisement -

गुजरात पुलिस के ‘विश्वास’ और ‘आश्वस्त’ प्रोजेक्ट का प्रारंभ

कानून व्यवस्था की स्थिति नियंत्रित रखने टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग जरूरीः केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कहा कि समाज में शांति और सुरक्षा की प्रतीति कराने के लिए कानून व्यवस्था का सुचारू पालन अत्यंत जरूरी है। बदलते दौर में साइबर क्राइम के क्षेत्र में पैदा हुई वैश्विक चुनौतियों के संदर्भ में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित रखने के लिए टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग जरूरी है।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 05

- Advertisement -

- Advertisement -

115

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गुजरात पुलिस के ‘विश्वास’ और ‘आश्वस्त’ प्रोजेक्ट का प्रारंभ

  • गुजरात पुलिस के ‘विश्वास’ और ‘आश्वस्त’ प्रोजेक्ट का केंद्रीय गृह मंत्री ने किया प्रारंभ
  • कानून व्यवस्था की स्थिति नियंत्रित रखने टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग जरूरीः केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह
  • ‘गुजरात में पुलिस कार्यवाही में नहीं होता राजनीतिक हस्तक्षेप’
  • सुदृढ़ सुरक्षा और कानून व्यवस्था से गुजरात बना विकास का रोल मॉडलः सीएम
  • ‘कांग्रेस शासनकाल में गुजरात में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ गई थी’ साइबर क्राइम की रोकथाम के लिए गुजरात पुलिस की अनुकरणीय पहल

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कहा कि समाज में शांति और सुरक्षा की प्रतीति कराने के लिए कानून व्यवस्था का सुचारू पालन अत्यंत जरूरी है। बदलते दौर में साइबर क्राइम के क्षेत्र में पैदा हुई वैश्विक चुनौतियों के संदर्भ में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित रखने के लिए टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग जरूरी है।

Related Posts
1 of 439

श्री अमित शाह शनिवार को गांधीनगर स्थित महात्मा मंदिर में गुजरात पुलिस की अभिनव पहल समान टेक्नोलॉजी युक्त प्रोजेक्ट ‘विश्वास’ और ‘आश्वस्त’ के कार्यारंभ अवसर पर संबोधित कर रहे थे। गुजरात पुलिस ने साइबर क्राइम पर अंकुश लगाने और अपराध का पर्दाफाश करने के लिए ‘विश्वास’ और ‘आश्वस्त’ प्रोजेक्ट आज से शुरू किया है। इसके अंतर्गत १०० नंबर डायल करने तथा राज्य के नवगठित ७ जिलों में ११२ नंबर डायल करने पर त्वरित मदद उपलब्ध होगी।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 08
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 08

उल्लेखनीय है कि डेबिट या क्रेडिट कार्ड से ठगी के जरिए पैसे की निकासी या इंश्योरेंस के पहाने पैसे की धोखाधड़ी या फिर ओएलएस जैसे ऑनलाइन प्लेटफार्म पर पैसा गंवाने के साइबर अपराधों के संदर्भ में ये प्रोजेक्ट कारगर साबित होंगे। श्री शाह ने कहा कि गुजरात हरेक क्षेत्र में अग्रणी रहा है। तत्कालीन मुख्यमंत्री और अभी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सर्वप्रथम इस दृष्टिकोण की शुरुआत की थी और गुजरात ने इस प्रोजेक्ट को कार्यान्वित कर उसे मूर्तिमंत किया है। इस प्रोजेक्ट के तहत सीसीटीवी के जरिए शहरों सहित राज्य के चप्पे-चप्पे पर निगरानी रखकर उसका पृथक्करण कर जानकारी या गतिविधियों को जांच अधिकारी तक पहुंचाया जा सकेगा। उन्होंने इस व्यवस्था को लागू करने के लिए मुख्यमंत्री, गृह मंत्री और राज्य पुलिस प्रमुख को बधाई दी।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 09
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 09

अपराध की दर को नीची रखने में गुजरात पुलिस के प्रयासों की सराहना करते हुए श्री अमित शाह ने कहा कि गुजरात की छवि देश के सबसे सुरक्षित राज्य की है। बदलते समय में साइबर क्राइम के क्षेत्र में पैदा हुई वैश्विक चुनौतियों से निपटने और अपराध की रोकथाम में यह प्रोजेक्ट उपयोगी होने के साथ ही साइबर अपराध से पीड़ित लोगों को सच्चे अर्थ में विश्वसनीय रूप से आश्वस्त करेगा।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कानून व्यवस्था को कायम रखने के मामले में बेहतरीन मिसाल पेश करने वाली भाजपा के नेतृत्व वाली गुजरात सरकार ने शांति और सुशासन के लिए अनेक आयाम जोड़े हैं। १९८०-९० के दशक में सांप्रदायिक दंगों वाले राज्य के रूप में पहचाना जाने वाला गुजरात आज विकास के रोल मॉडल के रूप में स्थापित हुआ है। इसकी बुनियाद में राज्य सरकार की प्रबल राजनीतिक इच्छाशक्ति और दीर्घदृष्टि वाला आयोजन है। गुजरात में शांति और सुशासन की अनुभूति के मूल में पुलिस कार्यवाही में राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं होना है।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 10
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 10

उन्होंने कहा कि एक समय था जब गुजरात में साल में २०० दिन कर्फ्यू और जगन्नाथ रथयात्रा पर हमले जैसी घटनाएं आम बन चुकी थी, वही गुजरात आज सुरक्षा की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ बना है। कश्मीर का जिक्र करते हुए श्री शाह ने कहा कि कश्मीर को देश से अलग करने वाले अनुच्छेद ३७० और ३५-ए को देश का हर नागरिक हटाना चाहता था, लेकिन तत्कालीन सरकारों ने वोट बैंक की राजनीति के चलते कुछ नहीं किया। परन्तु राष्ट्रभाव से प्रेरित हमारी सरकार ने इस अनुच्छेद को दूर कर कश्मीर को देश का अभिन्न अंग साबित किया है। देश इस बात को हमेशा याद रखेगा।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने आंतरिक और बाह्य सुरक्षा दोनों ओर की चुनौतियों का सामना कर सुरक्षा को ही सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। उड़ी और पुलवामा हमलों की प्रतिक्रिया में आतंकवादी संगठनों पर सर्जिकल और एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान को घर में घुसकर मुंहतोड़ जवाब दिया है। दुनिया में केवल दो ही देश ऐसे थे जो स्वयं पर हुए हमले का ऐसी दृढ़ता के साथ जवाब देते थे एक इजरायल और दूसरा अमेरिका। नरेन्द्रभाई ने सर्जिकल और एयर स्ट्राइक कर उस सूची में तीसरा नाम भारत का जोड़ दिया है।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 11
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 11

देश की रक्षा और कानून व्यवस्था की चर्चा तक करने में असमर्थ विपक्षी दलों का उल्लेख करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के संदर्भ में जनता के मन में कोई आशंका नहीं है। लेकिन इसे लेकर शंका-कुशंकाओं के दुष्प्रचार और झूठ के माध्यम से शांति को भंग करने का प्रयास देश भर में हो किया जा रहा है जो दुखद है। देश की जनता को परिपक्व बताते हुए उन्होंने कहा कि वह ऐसी झूठी बातों को नहीं मानेगी। दुष्प्रचार और झूठ के माध्यम से देश की शांति में पलीता लगाने वाले तत्वों से लोगों को सावधान रहने की ताकीद भी उन्होंने की।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 12
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 12

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में गुजरात सहित पूरा देश विकास के मामले में सभी दिशाओं में प्रगति कर रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी आयोजन के चलते देश की अर्थव्यवस्थता दुनिया की अग्रिम पंक्ति में शामिल हो चुकी है। केंद्रीय गृह मंत्री ने डाक विभाग द्वारा जारी कवर का अनावरण किया जिस पर गुजरात की लोक परंपरा, संस्कृति और नृत्यों की झलक है। उन्होंने दिव्यांगजनों के लिए ब्रेल लिपि में डाक विभाग की पुस्तक का भी विमोचन किया। आजादी से अब तक आंतरिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने में शहीद हुए ३५ हजार पुलिस जवानों को उचित सम्मान देने के लिए दिल्ली में बनाए गए नेशनल वार मेमोरियल का जिक्र करते हुए श्री शाह ने कहा कि इस स्मारक में शहीद जवानों के बलिदान की गाथा प्रदर्शित की गई है।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 01
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 01

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने विदेश नीति और सुरक्षा नीति के बीच का अंतर स्पष्ट किया है। दुनिया के सभी देशों को स्पष्ट संदेश दिया है कि भारत शांतिप्रिय है और शांति को समर्पित है यही हमारी विदेश नीति है, लेकिन यदि कोई हमारे देश पर नजर उठाएगा तो हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता सुरक्षा नीति होगी और उस देश को हम मुंहतोड़ जवाब देंगे।

Also You like to read
1 of 30

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने कहा कि गुजरात में विकास के नए मील के पत्थर स्थापित हुऐ हैं और राज्य देश में विकास के रोल मॉडल के तौर पर उभरा है जिसकी नींव में सुरक्षा और कानून व्यवस्था की सुदृढ़ स्थिति निहित है। उन्होंने कहा कि पहले कांग्रेस के शासनकाल में राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति की धज्जियां उड़ गई थी। माफिया, फिरौतीबाज और असामाजिक तत्वों की दहशत बढ़ गई थी। श्री नरेन्द्र मोदी ने जब २००१ में गुजरात की कमान संभाली तब से नरेन्द्रभाई और अमितभाई की जोड़ी ने ऐसे तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने तथा सख्ती से पेश आने के लिए पुलिस बल का मनोबल बढ़ाया। इसके चलते गुजरात में सांप्रदायिक दंगे बंद हुए, कानून का शासन स्थापित हुआ और दो दशक में गुजरात हरेक क्षेत्र में टेक्नोलॉजी के उपयोग से रोल मॉडल के रूप में उभरकर सामने आया।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 02
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 02

राज्य पुलिस बल की कार्यक्षमता की सराहना करते हुए श्री रूपाणी ने कहा कि भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए गुजरात पुलिस ने विश्व की श्रेष्ठ तकनीक का उपयोग कर साइबर क्राइम को पूरी तैयारी के साथ चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि साइबर वार यानी साइबर युद्ध के इस जमाने में जब अपराधी साइबर टेक्नोलॉजी के जरिए अपराध को अंजाम दे रहे हैं, ऐसे में गुजरात पुलिस नित-नए टेक्नोलॉजी युक्त आयामों से इस साइबर युद्ध में जरूर विजयी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात में साइबर बुलिंग (गंदी भाषा, तस्वीरों और धमकियों से इंटरनेट पर तंग या उत्पीड़न करना) तथा साइबर क्राइम के जरिए होने वाली ऑनलाइन ठगी से लोगों को ठगकर उनके पैसे उड़ा ले जाने वाले शख्सों को पकड़ने में गुजरात पुलिस के नए प्रोजेक्ट साइबर ‘आश्वस्त’ और ‘विश्वास’ अहम टूल साबित होंगे।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 03
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 03

श्री रूपाणी ने कहा कि गुजरात में अपराध दर नीची तथा डिटेक्शन रेट (अपराध का पर्दाफाश) की दर ऊंची है। उन्होंने बताया कि राज्य पुलिस के ‘त्रिनेत्र’ और ‘नेत्रम’ के कैमरा उपयोग से व्यूहात्मक और संवेदनशील स्थानों सहित कहीं भी अपराध घटित होने या कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ते ही पुलिस को फौरन जानकारी मिल जाती है जिससे उस पर तत्काल नियंत्रण स्थापित किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमितभ शाह द्वारा लॉन्च किए गए ‘आश्वस्त’ प्रोजेक्ट से जनता आश्वस्त रहेगी और अपराध एवं अपराधियों से उसे रक्षा मिलेगी। वहीं, ‘विश्वास’ प्रोजेक्ट राज्य की जनता में सुरक्षा और सलामती का विश्वास बढ़ाएगा। इसके साथ ही अपराधियों पर पल भर में शिकंजा कसने के पुलिस बल के मनोबल और उनकी कार्य क्षमता का विश्वास भी दृढ़ बनाएगा।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 04
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 04

उन्होंने कहा कि राज्य में १५०० स्थलों पर ७५०० कैमरों का जाल बिछाकर उसे कमांड कंट्रोल के साथ जोड़ने से यह किसी भी व्यक्ति को अपराध करते ही पकड़ने में परिणामदायी साबित होगा। गृह राज्य मंत्री श्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने स्वागत भाषण में कहा कि देश के प्रधानमंत्री और गुजरात के सपूत श्री नरेन्द्र मोदी ने राजनीतिक इच्छाशक्ति के आधार पर अनुच्छेद ३७० और ३५-एक को हटाकर संशोधित नागरिकता कानून के जरिए पूरे देश में नई चेतना का संचार किया है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह भी जब गुजरात में गृह मंत्री थे तब फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी, रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी और गुजरात नेश लॉ यूनिवर्सिटी स्थापित की थी।

श्री जाडेजा ने कहा कि देश में कानून व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने के लिए श्री अमित शाह की ओर से अथक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने आर्म्स एक्ट के साथ ही सीआरपीसी एक्ट में भी सुधार करने का प्रयास शुरू किया है। गुजरात की १६०० किमी की समुद्री सीमा को आतंकियों से सुरक्षित रखने तथा संगठित अपराध नियंत्रण के लिए गुजरात द्वारा पारित किए गए गुजसीटोक कानून को भी उनके मार्गदर्शन में मंजूरी मिल गई है।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 05
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 05

इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री ने विश्वास प्रोजेक्ट और साइबर आश्वस्त लोगो का अनावरण किया। उन्होंने राज्य के २७ जिलों के ‘NETRAM’ कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का ई-उद्घाटन भी किया गया। कार्यरत ७ जिलों में से २ जिलों के पुलिस अधिकारियों के साथ उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संवाद कर जानकारी हासिल की। इसके अलावा, साइबर आश्वस्त प्रोजेक्ट के शुभारंभ के साथ-साथ गुजरात साइबर क्राइम पोर्टल, गुजरात कोऑर्डिनेशन पोर्टल तथा एसएमएस काउंटर क्लिक का उद्घाटन भी किया जिसके माध्यम से राज्य के १.५० लोगों को एसएमएस भेजा गया।

ई-उद्घाटन के जरिए शुरू हुए ‘NETRAM’ (नेत्रम) कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में अहमदाबाद ग्रामीण, अमरेली, आणंद, भावनगर, डांग, देवभूमि द्वारका, पंचमहाल (गोधरा), जामनगर, जूनागढ़, खेड़ा, पोरबंदर, साबरकांटा, वलसाड़, वडोदरा ग्रामीण, तापी, सुरेन्द्रनगर, सूरत ग्रामीण, गिर-सोमनाथ, पाटण, नवसारी, मोरबी, दाहोद, पश्चिम कच्छ (भुज), छोटा उदेपुर, अरवल्ली, भरुच और महीसागर सहित २७ जिलों का समावेश होता है। राज्य के मुख्य सचिव श्री अनिल मुकीम ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 06
Gujarat Police Dwara Cybersecurity Mate Vishwas Ane Avast Project No Prarambh 06

कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री श्री नितिनभाई पटेल, राज्य के कैबिनेट एवं राज्य मंत्री, सांसद व विधायकों सहित पदाधिकारी, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री के. कैलाशनाथन, गृह विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संगीता सिंह, राज्य पुलिस महानिदेशक श्री शिवानंद झा, चीफ पोस्टमास्टर जनरल सहित कई उच्च अधिकारी और कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

दोस्तों, अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो कृपया नीचे दिए गए बटन लाइक (Like), शेयर (Share) और फॉलो (Follow) करें और इस पोस्ट को अपने दोस्तों, परिवार और अपने साथ काम करने वाले सहकर्मियों के साथ साझा करें, और अधिक स्वास्थ्य से संबंधित समाचारों और लेखों के अपडेट्स पाने के लिए हमारे पेज पर आते रहे।

Source By: gujaratinformation.net

:: Gallery ::

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

loading...

- Advertisement -

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More