गुलशन कुमार की हनुमान चालीसा के 2 बिलियन व्यूज़

128

- Advertisement -

गुलशन कुमार की हनुमान चालीसा के 2 बिलियन व्यूज़

श्री गुलशन कुमार की हनुमान चालीसा; 2 बिलियन व्यूज़ पार करने वाला भारत का पहला वीडियो

टी-सीरीज़ भक्ति चैनल पर रिलीज़ हुई श्री गुलशन कुमार द्वारा निर्मित और अभिनीत टी-सीरीज़ की हनुमान चालीसा ने एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। यह वीडियो यूट्यूब पर 2 बिलियन का आँकड़ा पार कर चुका है। यह एक ऐसी सफलता है, जो भारत में किसी अन्य गीत ने हासिल नहीं की है। यह गीत हरिहरन द्वारा गाया गया है और ललित सेन और चंदर द्वारा रचित है और उन सभी को सुरक्षा, स्वास्थ्य और धन प्रदान करता है जो इसे नियमित रूप और उत्साह से जपते हैं।

- Advertisement -

पिछले साल ही टी-सीरीज़ की हनुमान चालीसा ने यूट्यूब पर 1 बिलियन व्यूज़ पार किए थे और अब इसने केवल एक साल के भीतर प्लेटफॉर्म पर सुनहरे अक्षरों से एक बिलियन व्यूज़ और दर्ज कर लिए हैं।

- Advertisement -

गुलशन कुमार की हनुमान चालीसा के 2 बिलियन व्यूज़

गुलशन कुमार के पुत्र और टी-सीरीज़ के चेयरमैन तथा मैनेजिंग डायरेक्टर, भूषण कुमार कहते हैं, “टी-सीरीज़ के लिए यह बहुत ही गर्व का क्षण है कि हनुमान चालीसा गीत ने यूट्यूब पर 2 बिलियन व्यूज़ पार कर लिए हैं। यह इस मुकाम तक पहुँचने वाला भारत का पहला गाना है। यह मेरे पिता श्री गुलशन कुमार के आशीर्वाद से ही संभव हो पाया है और मैं दावे के साथ यह कह सकता हूँ कि वे हमेशा हम पर अपना आशीर्वाद बनाए रखते हैं।”

श्री गुलशन कुमार हमेशा ही नए भक्ति संगीत लाने में अग्रणी रहे हैं और उन्होंने समूची दुनिया में कई टी-सीरीज़ की पेशकशों के साथ अपने लिए एक अमिट जगह बनाई है। टी-सीरीज़ की ‘श्री हनुमान चालीसा’ के संगीत वीडियो को सन् 1997 में रिलीज़ किया गया था, लेकिन यह आज भी प्रासंगिक बना हुआ है। विशेष रूप से कोविड के दौरान लोगों ने अपने जीवन में इस चुनौतीपूर्ण अवधि को पार करने के लिए गीत की ओर रुख किया। वे टी-सीरीज़ की स्थापना के बाद से ही संगीत के क्षेत्र में अग्रणी थे। सबसे बड़े संगीत साम्राज्य का निर्माण करने वाले व्यक्ति की विरासत कई वर्षों बाद, आज भी चमक रही है और हर दिन नई सफलता का आगाज़ कर रही है।

यह निश्चित रूप से न केवल भूषण कुमार की टी-सीरीज़ के लिए बल्कि समूचे भारत के लिए भी एक उल्लेखनीय उपलब्धि है।

Source Ruchi Gupta

- Advertisement -

Also Read This

Comments are closed.